Category: JEE Mains

उत्तरजीविता के सिद्धान्त पर अनुकूलन या समायोजन का उद्देश्य क्या है? 0

उत्तरजीविता के सिद्धान्त पर अनुकूलन या समायोजन का उद्देश्य क्या है?

उत्तरजीविता के सिद्धान्त पर अनुकूलन या समायोजन का उद्देश्य क्या है? समायोजन का विकास प्राणीशास्त्रियों ने योग्यतम की उत्तरजीविता के सिद्धान्त पर अनुकूलन या समायोजन का उद्देश्य शिक्षा शास्त्र में स्थापित करते है |...

नागरिकता की शिक्षा का जन्म कहाँ पर हुआ था? 0

नागरिकता की शिक्षा का जन्म कहाँ पर हुआ था?

नागरिकता की शिक्षा का जन्म कहाँ पर हुआ था? उपरोक्त पांचों दिशाओं में बालक की बाह्य और आन्तरिक शक्तियों का समान विकास शिक्षा द्वारा किया जाना चाहिए | इसी सन्दर्भ में महात्मा गांधी शिक्षा...

मनोवैज्ञानिकों के निर्देशानुसार अधिगम के विकास के सिद्धांतों का महत्व बताइये 0

मनोवैज्ञानिकों के निर्देशानुसार अधिगम के विकास के सिद्धांतों का महत्व बताइये

मनोवैज्ञानिकों के निर्देशानुसार अधिगम के विकास के सिद्धांतों का महत्व बताइये 1. जानने का अधिगम (Learning to know):- जानने के अधिगम का अर्थ है शिक्षा द्वारा लोगों में नवीन ज्ञान ग्रहण करने की योग्यता...

बालक के वैयक्तिक विकास में मनोविज्ञान का क्या महत्व है? 0

बालक के वैयक्तिक विकास में मनोविज्ञान का क्या महत्व है?

बालक के वैयक्तिक विकास में मनोविज्ञान का क्या महत्व है? (i) वैयक्तिक दृष्टिकोण – बालक के वैयक्तिक विकास में जीव शास्त्र का यथेष्ट योग रहता है । क्योंकि बालक के व्यवहार में जैविकीय तत्वों...

सामाजिक कारक किस प्रकार शिक्षा का प्रभावित करता है। 0

सामाजिक कारक किस प्रकार शिक्षा का प्रभावित करता है।

सामाजिक कारक किस प्रकार शिक्षा का प्रभावित करता है। वर्तमान में भारत एक लोकतन्त्रात्मक गणराज्य है । फलतः शिक्षा के उद्देश्यों का निर्धारण व्यक्ति और समाज दोनों के का हितों को ध्यान में रख...